समाचार

क्रिप्टो-निवेशकों के लिए जाल

http://cryptoconsulting.info/wp-content/uploads/2018/05/1024h683_kak_nachaty_cryptotrading_2.jpg

व्याचस्लाव ज़ोलोटुखिन, EvoDesk के CEO, नए रजिस्टर और पहचान की शुरूआत करने के बाद क्रिप्टो बाजार में निवेश में कमी की संभावना के बारे में बताया।

ताजी खबरों के मुताबिक, नई सरकार के आगमन के साथ क्रिप्टो मुद्राओं और ब्लॉकचैन के नियंत्रण पर सक्रिय काम की शुरुआत की गयी थी। बहुत लोग इस विषय को लेकर एक साल से अधिक समय तक चिंतित हैं। और इसका कारण समझा जा सकता है, क्योंकि वास्तव में एक नया वित्तीय बाजार विकसित हो गया है जिस पर कर नहीं लगाया जाता है। इसके अलावा, यह ज्ञात नहीं है कि वहां कितना पैसा संचालन में है। जाहिर है, इस मुद्दे पर  निर्णय जल्दी से लेने की जरूरत थी, और परिवर्तन लाने की प्रक्रिया को क्रिप्टो निवेशकों से शुरू करने का फैसला किया गया है।

हाल ही में सभी जन मीडिया ने सरकार का आधिकारिक बयान पोस्ट किया है, जिसमें कहा गया है कि क्रिप्टो परियोजनाओं में निवेश करने के लिए एक विशेष रजिस्टर में पंजीकरण की आवश्यकता होती है, जहां पहचान के लिए पासपोर्ट और करदाता पहचान संख्या होने चाहिए। इससे पहले भी कुछ चिंताएं थीं, लेकिन अब और अधिक समस्याएँ हैं। “पंजीकरण” के अतिरिक्त, सदस्य-प्रतिभागियों को ICO के दौरान धन का निवेश करने का अवसर प्राप्त करने के लिए प्रमाणीकरण पास करना होगा। हम अनुमान लगा सकते हैं कि कई इसे पसंद नहीं करेंगे और कुछ क्रिप्टो-निवेशक छाया में रहना चाहेंगे।
माना जाता है कि इस रजिस्टर की निगरानी सेंट्रल बैंक या वित्त मंत्रालय द्वारा की जाएगी। इसके अलावा, पासपोर्ट डेटा और करदाता पहचान संख्या से डिजिटल वॉलेट को जुड़ने की योजना बनाई गयी है जिसका उद्देश्य लेनदेनों की गुमनामता को दूर करना है, साथ ही क्रिप्टो-निवेशकों की पहचान बायोमेट्रिक डेटा से भी की जा सकेगी।

ऐसे बयान के लिए एक उचित जवाबी सवाल उठाया जाता है: क्या निवेश पर प्रतिबंध टाला जा सकेगा?

हां, बेशक, इसकी संभावना है। ऐसा करने के लिए आपको रूसी परियोजनाओं से जुड़े ICO में भाग लेने से दूर रहना चाहिए। इसका कारण यह है: भविष्य के कानून के नियम विशेष रूप से रूसी परियोजनाओं और कंपनियों के लिए लिखे गए हैं। यह संभावना है कि भविष्य में इस घटक का कुछ विनियमन भी होगा। लेकिन अब यह पूरी तरह अस्पष्ट है कि यह नवाचार हमारी पहले से ही विकसित क्रिप्टो दुनिया में कैसे काम करेगा।

यदि आप पहचाना जाना नहीं चाहते हैं, तो एक समाधान है और यह बेहद सरल है – अन्य विश्व ICO में भाग लेना।
आज ICO क्रिप्टो-निवेशकों को होनहार परियोजनाओं में निवेश करने के लिए शानदार अवसर प्रदान करता है, जिसमें क्राउडफंडिंग के जरिए आप निवेश करके बाद में उच्च एक्सों का लाभ उठा सकेंगे।

मैं समझाऊंगा, एक्स कुछ क्रिप्टो मुद्रा की 2 गुना या अधिक वृद्धि है।  एक्स1 का मतलब 100% है, एक्स 2 – 200%, और इसी तरह।

यह कारक अब सब से महत्वपूर्ण है, क्योंकि परंपरागत निवेश की मदद से परिकल्पना में पूंजी की इतनी वृद्धि आपको कभी नहीं मिलेगी। यहां इस के लिए परियोजनाएँ और अवसर हैं।

राजकीय दूमा की फाइनेंशियल मार्केट कमेटी के चेयरमैन, अनातोली अक्साकोव, के अनुसार, यह आइडेन्टिफिकैशन एंटी-लॉंडरिंग नीति के लिए आवश्यक है। असल में गुमनामी इतना महत्वपूर्ण नहीं है, क्योंकि अधिकांश लोगों ने अपना पैसा ईमानदार तरीके से कमाया है और उनके लिए यह प्राथमिकता नहीं है, लेकिन हमेशा ऐसी अन्य कंपनियां हैं जो ICO की मदद से अपनी वास्तविक लाभप्रदता को छिपाने की कोशिश करती हैं। व्यक्तिगत रूप से, मुझे ऐसी परियोजनाओं के साथ काम नहीं करना पड़ा और व्यवहार में मैंने उनसे मुलाकात नहीं की है, लेकिन यह इनकार करना कि वे मौजूद नहीं हैं गलत है।

सबसे पहले, एक विशेष रजिस्टर की शुरूआत उन कंपनियों को प्रभावित करेगी जो ICO चलाती हैं। क्यों? निवेशकों के लिए उनकी परियोजनाओं में प्रवेश करने की अवसीमा बढ़ेगी।  इसमें कुछ भी भयानक नहीं है, और सिद्धांत रूप में सबसे बुरी चीज यह हो सकती है कि क्रिप्टो निवेशकों की संख्या कम हो जाएगी क्योंकि उन में से कुछ पंजीकृत किए जाने नहीं चाहते हैं। इसके लिए एक अच्छा उदाहरण है – सट्टेबाजी दांव।पहले आप साइट खोलकर पसंद की गई टीम पर कोई भी राशि का दांव लगा सके। अब यह पर्याप्त नहीं है: आपको न केवल साइट पर फॉर्म के माध्यम से अपना पूरा डेटा दर्ज करना है, बल्कि अपनी पहचान की पुष्टि करने के लिए उनके कार्यालय में जाना है। व्यक्तिगत रूप से, मैं आलस के कारण यह नहीं करूँगा।

इसी कारण से ऐसी संभावना है कि संभावित निवेशकों का एक छोटा सा हिस्सा बाजार को छोड़ देगा। लेकिन आपको यह समझने की जरूरत है कि परियोजनाओं को सबसे बड़ा पैसा फंडों से मिलता है। और उनको कोई पहचान की समस्या नहीं है, लेकिन पासपोर्ट डेटा की आवश्यकता के बिना निजी निवेशकों से धन एकत्र करने का अवसर है। मुझे लगता है कि फंड एक प्रकार का पुल बन जाएँगे जिनके माध्यम से पैसा संचालित हो जाएगा।

क्या इस रजिस्टर को बनाने का निर्णय सही है? अब यह कहना मुश्किल है। सबसे पहले, उद्देश्य अस्पष्ट हैं: यह किस के लिए और किस लिए बनाया जा रहा है? मनी लॉंडरिंग का मुकाबला करने के लिए? शायद, लेकिन उचित कदम उठाए जाने की शर्त आवश्यक है। ऐसी भावना है कि वे लोग जिन्होंने इस कानून को लिखा है, खुद नहीं समझते कि वे यह क्यों कर रहे हैं। फिलहाल यह कानून इसलिए लागू किया जाता है कि यह जानने के लिए कि इस बाजार में कितना पैसा संचालित है और इस पर क्या कर लगाया जा सकता है। इसलिए, जिस रूप में यह अभी है इसकी उपयोगिता बहुत स्पष्ट नहीं है।

यदि विनियमन का उद्देश्य  ICO चलाते समय धोखाधड़ी को कम करना है या निवेशक और परियोजना के संस्थापक संबंध में सुरक्षा बढाना है, तो यह बहुत अच्छा है। लेकिन अभी ऐसा लगता है कि यही कानून यह पता लगाने के लिए विकसित किया गया है कि क्रिप्टो मार्केट में कितना पैसा है और उस पर नए कर लगाकर क्या लाभ उठाया जा सकता है। और यह अच्छा नहीं है।

Click to comment

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Crypto Consulting FZE
LICENSE NO. 2810
Cryptoconsulting साइट से मुफ्त प्रतिलिपिकरण और सामग्री का वितरण केवल तब अनुमति दी जाती है, जब आप Cryptoconsulting के लिए एक सक्रिय लिंक स्रोत के रूप में दर्ज करते हैं। सोशल नेटवर्क या प्रिंट्स में सामग्री की कॉपी करते समय एक लिंक निर्दिष्ट करना भी आवश्यक है।

Copyright © 2017 CryptoConsulting

To Top
Authorization
*
*
Registration
*
*
*
A password has not been entered
*
Password generation